होम Health वर्ल्ड डायबिटीज डे २ ० १ ९ : भारत में लगातार बढ़...

वर्ल्ड डायबिटीज डे २ ० १ ९ : भारत में लगातार बढ़ रहा है डायबिटीज का खतरा जानिए इसके बारे में

हमारे देश में डायबिटीज की बीमारी साल दर साल तेजी से बढ़ रही है। डायबिटीज, मधुमेह या शुगर एक ऐसी बीमारी है, जिससे दुनियाभर के लोग परेशान हैं। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि हम लोग इस बीमारी को लेकर बिलकुल भी जागरूक नहीं हैं।

विज्ञापन

आज यानी कि 14 नवंबर को इंटरनेशनल डायबिटीज फेडरेशन (आईडीएफ) द्वारा “वर्ल्ड डायबिटीज डे” दुनियाभर में मनाया जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य डायबिटीज और इसके उपचार के बारे में जागरुकता फैलाना है। इस बीमारी के लिए हमारी बदली हुई जीवनशैली भी काफी जिम्मेदार है।

अपनी दिनचर्या और काम में हम इतने व्यस्त हो गये हैं कि प्रतिदिन शारीरिक श्रम करने के लिए हमारी जिन्दगी में कोई जगह ही नहीं बची है। लेकिन अगर आप इस गंभीर समस्या से बचने के लिए एक स्वस्थ दिनचर्या अपनायेंगे तो आप जीवनभर इस बीमारी से सुरक्षित रह सकते हैं।

तो चलिए इस बीमारी से जुड़े कारणों, प्रभावों और बचाव के उपायों के बारे में जानते हैं।

जानें क्या है डायबिटीज-

जब हमारे शरीर में इंसुलिन ना बनने के कारण खून में शुगर की मात्रा एक तय सीमा से ज्यादा हो जाती है तो इसे डायबिटीज या मधुमेह कहते हैं।

इंसुलिन एक तरह का हॉर्मोन होता है जो हमारे शरीर में शुगर यानी कि शर्करा को पचाकर ऊर्जा में परिवर्तित करता है। आमतौर पर महिलाओं की अपेक्षा ये बीमारी पुरुषों में ज्यादा होती है। इस रोग के होने की संभावना 35-60 वर्ष की उम्र के बीच सबसे अधिक होती है।

डायबिटीज के प्रकार-

डायबिटीज मुख्यतः 2 प्रकार की होती है।

टाइप-1 डायबिटीज- ये बच्चों और 20 साल से कम उम्र में होती है। टाइप-1 के लक्षण जैसे बच्चे को ज्यादा पेशाब आना, ज्यादा भूख लगना, अचानक वजन कम होना आदि हैं।

टाइप-2 डायबिटीज- ये मध्य आयु वर्ग जैसे 35 वर्ष के बाद और बुजुर्गों में होती है। अक्सर ये लोग मोटे होते हैं। लगभग 50 प्रतिशत मरीजों में इसके शुरूआती लक्षण नहीं दिखते हैं। इसीलिए इसे साइलेंट किलर भी कहते हैं।

जानें इस रोग के लक्षणों के बारे में-

डायबिटीज होने पर रोगी में मुख्यतः ये लक्षण देखने को मिलते हैं।

  • बहुत जल्दी-जल्दी पेशाब आना।
  • पेशाब के तुरंत बाद प्यास लगना।
  • आंखों की रौशनी कम होना।
  • लगातार भारीपन महसूस होना।
  • चोट लगने पर जल्दी से ठीक ना होना।
  • त्वचा संबंधी दिक्कतें जैसे इंफेक्शन या फोड़े-फुंसी आदि होना।
  • हाथ-पैर या गुप्तांगों पर खुजली होने से जख्म बन जाना।

डायबिटीज से बचने के लिए अपनाएं ये सावधानियां-

अभी तक डायबिटीज का कोई भी स्‍थायी उपचार नहीं है। इसलिए अच्छा होगा कि आप ये सावधानियां जरूर बरतें। इस बीमारी से बचने के लिए आपको अपनी जीवनशैली बदलने की जरूरत है।

  • शरीरिक तौर पर सक्रिय रहें। प्रतिदिन नियमित रूप से योग, व्‍यायाम या वॉक जरूर करें।
  • अपना वजन नियंत्रित रखें। ज्यादा तला-भुना और फैटयुक्त पदार्थों का सेवन ना करें।
  • चीनी और मैदा से बने खाद्य पदार्थों का उपयोग कम ही करें।
  • मानसिक तौर पर भी अपने आप को खुश, शांत और स्वस्थ रखें।
  • चोट लगने पर किसी भी तरह के घाव को खुला ना छोड़ें।
  • अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो नियमित शुगर की जांच करायें।
विज्ञापन

नोट - यहां पर दी गई जानकारी केवल एक सलाह के तौर पर है। हम इनमें से किसी भी उपचार को आजमाने के लिए आप पर किसी प्रकार का कोई भी दबाब नहीं बना रहे हैं। अतः आपसे निवेदन है कि किसी भी उपचार को अपनाने से पहले किसी डॉक्टर अथवा विशेषज्ञ से परामर्श अवश्य लें।

संपादक
मैं इस साइट का संपादक और वेबमास्टर हूं, जो आपको स्वास्थ्य और कल्याण पर सबसे अच्छी सामग्री ला रहा है। यदि आप हमारी साइट पर पोस्ट करना चाहते हैं तो हमें लेख भेजें Write for Us

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Anti-Wrinkles Tips in Hindi

सुंदर दिखना हर किसी की चाहत होती है .इसलिए यह जरूरी नहीं है कि आप कॉस्मेटिक का उपयोग या ब्यूटी पार्लर में जा के...

मोटापा कम करने के टिप्स “Moatapa Kam Karne Ke Tips”

आज समाज में एक गम्भीर बिमारी का रूप ले रहा मोटापा जिससे समाज का हर 5वा व्यक्ति ग्रसित हैमोटापे से आप की काम करने...

बवासीर के लिए घरेलू उपचार

बवासीर या पाइल्स एक खतरनाक बीमारी है।गुदा-भाग में वाहिकाओं की वे संरचनाएं हैं जो मल नियंत्रण में सहायता करती हैं।जब वे सूज जाते हैं...

प्रदूषण की मार से बचने के लिए अपनाएं ये 10 घरेलू नुश्खे

हमारे देश में प्रदूषण की मात्रा दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। हर तरफ प्रदूषण का प्रकोप साफ देखा जा सकता है। जिसके कारण...

डिलीवरी के बाद होने वाले स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में बहुत से शारीरिक परिवर्तन होते हैं। इस दौरान महिलाओं का वजन तेजी से बढ़ता है। और इनके...

बहुत फायदेमंद औषधि है मुलेठी जानिए इससे होने वाले अद्भुत फायदों के बारे में

भारत में आमतौर पर इसे मुलेठी कहा जाता है, लेकिन इसका एक अन्य नाम लिकोरिस भी है। मुलेठी एक बहुत ही गुणकारी औषधि है...

मस्तिष्क को तेज करने में बहुत सहायक हैं ये जड़ी-बूटियां

मस्तिष्क यानी कि दिमाग हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है क्यूंकि इसके बिना हमारे शरीर का कोई भी अंग काम नहीं कर सकता।जीवन...

वर्ल्ड डायबिटीज डे २ ० १ ९ : भारत में लगातार बढ़ रहा है डायबिटीज का खतरा जानिए इसके बारे में

हमारे देश में डायबिटीज की बीमारी साल दर साल तेजी से बढ़ रही है। डायबिटीज, मधुमेह या शुगर एक ऐसी बीमारी है, जिससे दुनियाभर...