होम Health अक्सर पेट खराब रहने से हैं परेशान तो पाचन शक्ति दुरुस्त करने...

अक्सर पेट खराब रहने से हैं परेशान तो पाचन शक्ति दुरुस्त करने से लिए खाएं ये चीजें

आजकल ज्यादातर लोग पेट खराब रहने की समस्या से काफी परेशान हैं। इसका कारण व्यस्त दिनचर्या, अनियमित रहन-सहन और अनियंत्रित खानपान है।

विज्ञापन

इन सबकी वजह से पाचन क्रिया काफी प्रभावित होती है और सही से पाचन ना हो पाने के कारण ही पेट खराब रहने लगता है। पाचन-तंत्र हमारे शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है। इसका काम खाने से पोषक तत्वों को निकलकर हमारे शरीर तक पहुंचना है।

जब तक पाचन शक्ति दुरुस्त रहेगी तब तक उस व्यक्ति का पेट खराब नहीं होगा और ना ही उसको मोटापे किस समस्या होगी। क्योंकि जिनका पाचन-तंत्र खराब रहता है अक्सर वो लोग मोटे और स्वस्थ नहीं रह पाते हैं। इसीलिए आज हम आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आप आसानी से अपने पाचन-तंत्र को स्वस्थ्य रख सकते हैं।

खूब करें हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन

सर्दियों के इस मौसम में हरी पत्तेदार सब्जियों की भरमार होती है। इनके सेवन से आपके शरीर में कभी फाइबर की मात्रा की कमी नहीं होगी।

शरीर में पर्याप्त मात्रा में फाइबर मौजूद होने से आपका पाचन-तंत्र बेहतर रूप से काम कर पायेगा। इसके अलावा हरी सब्जियों में कई विटामिन्स भी मौजूद होते हैं जो आपके शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं।

दाल का सेवन है बहुत जरूरी

दालें प्रोटीन और आयरन का बहुत ही प्रमुख स्रोत होती हैं। दालें भारतीय भोजन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और इनके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। अपने आहार में नियमित रूप से दालों को शामिल करके आप पेट संबंधी कई बीमारियों से बचे रह सकते हैं। इसलिए हमें प्रतिदिन दालों का सेवन जरूर करना चाहिए।

चीनी की जगह करें शहद का प्रयोग

अगर आप चीनी का उपयोग बहुत अधिक करते हैं तो इसको कम कर लें। चीनी की जगह आप शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं। आपके पेट के स्वास्थ्य के लिए शहद का सेवन काफी फायदेमंद होता है।

इसके अलावा पाचन-क्रिया को दुरुस्त रखने के लिए शहद एक बेहतर विकल्प है। सर्दियों में शहद का सेवन तो और भी लाभदायक होता है। अतः दूध में आप चीनी की जगह शहद का इस्तेमाल करें।

दही या छाछ का सेवन भी है जरूरी

पाचन तंत्र को मजबूत बनाये रखने के लिए प्रतिदिन दही या छाछ का सेवन बहुत जरूरी है। इनके सेवन से आपके पाचन-तंत्र में ठंडक बनी रहती है।

विज्ञापन

साथ ही आपका पाचन-तंत्र बेहतर तरीके से काम कर पाता है। इनके अलावा आप भोजन के साथ रायता या लस्सी भी ले सकते हैं।

अदरक भी है कारगर

सदियों से अदरक का इस्तेमाल कई बीमारियों को प्राकृतिक रूप से मिटाने के लिए किया जाता है। अदरक में ऐसे कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं जो हमारे शरीर से पाचन संबंधी विकारों को दूर करते हैं।

इसके सेवन से आपका पाचन-तंत्र मजबूत होता है और पाचन क्रिया दुरुस्त होती है। इसके लिए आप इसकी चाय बनाकर, इसको सब्जियों में डालकर या फिर ऐसे ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

रोज लहसुन का करें इस्तेमाल

रोज सुबह खाली पेट 1 लहसुन की कली का इस्तेमाल करने से आपको कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है। लहसुन पेट की बीमारियों से छुटकारा दिलाने के साथ ही दिल की बीमारियों से भी हमें निजात दिलाता है। इसके साथ ही ये हमारे शरीर की कैलोरीज को बर्न करके हमें मोटापे से भी निजात दिलाता है।

चाय की जगह ग्रीन-टी या कॉफी लें

पाचन शक्ति को बढ़ाने में ग्रीन-टी बहुत हद तक कारगर है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और पॉलीफिनॉल्स काफी मात्रा में मौजूद होते हैं। जो आपके शरीर की चयापचय क्रिया में सुधार लाने के साथ-साथ पाचन क्रिया को दुरुस्त करते हैं।

इसके अलावा आप बिना चीनी और दूध के कॉफी भी ले सकते हैं। कॉफी पीने से आपके मेटाबॉलिक रेट में वृद्धि होती है। इसमें मौजूद कैफीन आपकी थकान को मिटाकर स्टेमिना को बढ़ाने में मदद करती है।

खूब पानी पियें

अगर आपको अपना पाचन दुरुस्त रखना है तो प्रतिदिन कम से कम 8-10 लीटर पानी पियें। ऐसा करने से आपकी पाचन क्रिया ठीक रहती है।

पानी हमारे शरीर से प्राकृतिक रूप से सोडियम और अन्य विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में कारगर है। इसके अलावा खूब पानी पीने से वजन घटाने में भी मदद मिलती है। पानी पीने से हमारे शरीर की चयापचय दर में 30 प्रतिशत तक की वृद्धि होती है।

विज्ञापन

नोट - यहां पर दी गई जानकारी केवल एक सलाह के तौर पर है। हम इनमें से किसी भी उपचार को आजमाने के लिए आप पर किसी प्रकार का कोई भी दबाब नहीं बना रहे हैं। अतः आपसे निवेदन है कि किसी भी उपचार को अपनाने से पहले किसी डॉक्टर अथवा विशेषज्ञ से परामर्श अवश्य लें।

संपादक
मैं इस साइट का संपादक और वेबमास्टर हूं, जो आपको स्वास्थ्य और कल्याण पर सबसे अच्छी सामग्री ला रहा है। यदि आप हमारी साइट पर पोस्ट करना चाहते हैं तो हमें लेख भेजें Write for Us

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सर्दी और खाँसी से निजात के लिए घरेलू उपाय

सर्दीऔर खाँसी की समस्या बहुत ही आम समस्या है लेकिन इसके कारण आपके स्वास्थ्य को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।यह किसी भी उम्र...

वेट लॉस डाइट इन हिंदी

वेट बढ़ने का विज्ञान बड़ा सीधा-साधा है। यदि आप खाने-पीने के रूप में  जितनी कैलोरीज ले रहे हैं उतनी बर्न  नहीं करेंगे तो आपका...

डिप्रेशन के लक्षण और इससे बचने के प्राकृतिक उपाय

डिप्रेशन कोई बीमारी तो नहीं है लेकिन ये एक ऐसी समस्या है जिससे हमारी कार्यक्षमता प्रभावित होती है और साथ ही ये हमारी स्वस्थ्य...

पतला होने की दवा हिंदी में “Patla Hone Ki Dawa in Hindi”

आज कल की इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में हमें अपने सरीर का ख्याल रखने का वक्त ही नहीं मिलता और बिना किसी रूटीन...

पीलिया क्या है इसके कारण क्या है, लक्षण, उपाय

आपको बता दे पीलिया रोग हर किसी उम्र में हो सकता है इस रोग में लोगो के शरीर का रक्त लाल से पीला पड़ जाता है...

लम्बा होने की दवा हिंदी में “Lamba Hone Ki Dawa in Hindi”

क्या आप अपने औसत या छोटे हाइट को लेके परेशान हैं? लेकिन इस भाग दौड़ की ज़िन्दगी में आपके पास व्याम करने का इतना समय...

हार्ट अटैक आने पर बरतें ये सावधानियां और अपनाएं ये टिप्स

आजकल की इस व्यस्त दिनचर्या, काम का बढ़ता बोझ और इससे होने वाले तनाव के कारण लोगों के दिलों की सेहत पर काफी बुरा...

बच्चों पर अब बोझ नहीं बनेगी पढ़ाई, इन आसान टिप्स को अपनाकर लगायें बच्चों का पढ़ाई में मन

बच्चों की परीक्षाओं का समय नजदीक आ चुका है। इसी वजह से बच्चों पर पढ़ाई का दबाव भी दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। परीक्षा...