होम Nature जानिए हरी मटर के इन चौंकाने वाले फायदों के बारे में

जानिए हरी मटर के इन चौंकाने वाले फायदों के बारे में

सर्दियों का मौसम शुरू हो गया है। ठंड के इस मौसम में हरी सब्जियों की बहार होती है। साथ ही इस मौसम में हरी सब्जियां हर जगह आसानी से उपलब्ध भी होती हैं।

विज्ञापन

ठंड के मौसम में रंगबिरंगी सब्जियों के साथ ही हरी मटर को काफी पसंद किया जाता है। मटर की मौजूदगी भोजन के प्रति आपकी रुचि के दुगुना कर देती है। हरी मटर से कई तरह के खाने बनाए जा सकते हैं। इसके अलावा पुलाव, पराठे या पोहा ठंड के दिनों में हरी मटर के बिना ये सब अधूरे ही लगते हैं। हरी मटर इन सब में चार चांद लगा देती है।

लेकिन स्वाद में मजेदार होने के साथ ही हरी मटर के कई स्वास्थ्यवर्धक लाभ भी हैं। हरी सब्जियों की तरह ही हरी मटर भी विटामिन्स, मिनरल्स, प्रोटीन्स और फाइबर्स के साथ-साथ कई एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है। तो चलिए हरी इनके इन्हीं बेहतरीन फायदों के बारे में जानते हैं-

Quick Tips-

दिमागी शक्ति को बढ़ाने में सहायक है हरी मटर-

प्रतिदिन हरी मटर के सेवन से आपकी स्मरण शक्ति बढ़ती है और भूलने की बीमारी से छुटकारा मिलता है। साथ ही ये ऑस्ट्रियोपोरोसिस और ब्रोंकाइटिस आदि से लड़ने में सहायता करती है। अगर आपको कोई भी हर बात और छोटी-छोटी चीजें भूलने की बीमारी है तो आप इनका सेवन जरूर करें।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाये-

हरी मटर में आयरन, जिंक, मैगनीज और तांबा आदि तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। ये सभी तत्व हमारे शरीर को कई खतरनाक बीमारियों से बचाने में सहायक होते हैं। हरी मटर में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। जिससे हमारा शरीर बीमारियों से मुक्त रहता है।

कोलेस्‍ट्रॉल को करे कम-

हरी मटर में ऐसे कई स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक गुण होते हैं जो शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा को बढ़ने नहीं देते। इसीलिये हरी मटर खाने से हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित रहता है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के साथ ही ये आपको मोटापे सहित अन्य कई बीमारियों से बचाती है। प्रतिदिन हरी मटर का सेवन करना आपके दिल को स्वस्थ रखने में सहायक है।

आंखों और बालों के लिए है लाभदायक-

हरी मटर हमारी आंखों और बालों के लिए भी लाभदायक है। इनमें विटामिन-ए पाया जाता है जो हमारी आंखों की रोशनी बढ़ाने में सहायक होती है। साथ ही इनमें विटामिन-सी भी मौजूद होता है जो हमारे बालों को झड़ने और टूटने से रोकता है।

गर्भवती महिलाओं के लिए है काफी फायदेमंद-

विज्ञापन

गर्भवती महिलाओं के लिए भी हरी मटर काफी फायदेमंद होती है। ये गर्भवती महिलाओं के भ्रूण में पल रहे बच्चे को पर्याप्त पोषण देती है। साथ ही इसके सेवन से भ्रूण में पल रहे बच्चे को किसी प्रकार की एलर्जी भी नहीं होती है। इसके अलावा महिलाओं में माहवारी की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में ये काफी हद तक सहायक होती हैं।

कैंसर से भी दिलाये छुटकारा-

आकार में छोटी होने के बावजूद हरी मटर कैंसर जैसी बड़ी-बड़ी बीमारियों से निजात दिलाने में सहायक है। इनमें कैंसर की कोशिकाओं को नियंत्रित रखने की क्षमता होती है।

खासतौर से पेट के कैंसर में इनका सेवन बहुत लाभकारी है। साथ ही इनके सेवन से हमारे शरीर को फेनोलिक और एंटी-ओक्सिडेंट्स मिलते हैं जिससे हमारा ब्लड प्रेसर यानी कि रक्त-चाप नियंत्रित रहता है।

त्वचा जवान बनाए रखने में सहायक-

मटर में फाइबर की मात्रा अधिक पाई जाती है। जो हमारी त्वचा को निखरती है और जवान बनाये रखने में मदद करती है। साथ ही इनमें एंटी-ओक्सिडेंट्स, फ्लैवानॉइड्स, फाइटोन्यूटिंस, कैरोटिन पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को एक्टिव और एनर्जी से भरपूर रखते हैं।

हड्डियों को बनाए मजबूत-

हरी मटर में विटामिन-के भरपूर मात्रा में होता है जो हड्डियों को मजबूत रखने में और खासतौर से ऑस्ट‍ियोपोरोसिस से बचाव करने में सहायक होती है। साथ ही इनमें कैल्शियम और जिंक भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी हैं।

पाचन क्रिया को करे दुरुस्त-

इनमें पाया जाने वाले विटामिन-बी पाचन क्रिया को तेज करने के साथ ही हाजमे को भी दुरुस्त करता है। कच्ची हरी मटर खाने से कब्ज की समस्या से निजात मिलती है। इनके नियमित सेवन से पेट की समस्यायें जैसे पेटदर्द, कब्ज, गैस, एसिडिटी आदि से छुटकारा मिलता है।

घाव और जलन में है फायदेमंद-

चोट लगने या घाव हो जाने पर भी आपको हरी मटर से आराम मिल सकता है। इसके साथ ही अगर आप जल जाते हैं तो आपको जले हुए स्थान पर इनका लेप लगाने से जलन बंद हो जाती है।

विज्ञापन

नोट - यहां पर दी गई जानकारी केवल एक सलाह के तौर पर है। हम इनमें से किसी भी उपचार को आजमाने के लिए आप पर किसी प्रकार का कोई भी दबाब नहीं बना रहे हैं। अतः आपसे निवेदन है कि किसी भी उपचार को अपनाने से पहले किसी डॉक्टर अथवा विशेषज्ञ से परामर्श अवश्य लें।

संपादक
मैं इस साइट का संपादक और वेबमास्टर हूं, जो आपको स्वास्थ्य और कल्याण पर सबसे अच्छी सामग्री ला रहा है। यदि आप हमारी साइट पर पोस्ट करना चाहते हैं तो हमें लेख भेजें Write for Us

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

क्या है ”वर्ल्ड फर्स्ट एड डे”, कब हुई शुरुआत और थीम, जानें यहां

आज (14 सितंबर) है ”वर्ल्ड फर्स्ट एड डे” (world first aid day 2019)। हर साल 14 सितंबर को यह दिन इसलिए मनाया जाता है...

खाज या एक्जिमा (Eczema) के घरेलू उपचार

खाज या एक्जिमा एक प्रकार का चर्म रोग है। इस रोग में नमी के अभाव के कारण त्वचा शुष्क हो जाती है। शुष्कता के...

पतला होने की दवा हिंदी में “Patla Hone Ki Dawa in Hindi”

आज कल की इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में हमें अपने सरीर का ख्याल रखने का वक्त ही नहीं मिलता और बिना किसी रूटीन...

भारत में साल दर साल बढ़ रहे हैं ब्रेस्ट कैंसर के मरीज जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीकों के बारे में

भारत में ब्रेस्ट कैंसर या स्तन कैंसर एक तेजी से बढ़ती हुई और बहुत ही गंभीर समस्या बनती जा रही है। हमारी इस गलत...

अस्थमा का उपचार

अस्थमा एक श्वास संबंधी बीमारी है | अस्थमा के रोगियों को   मौसम परिवर्तन की  कई समस्याओ का सामना करना पड़ता है| इतना ही नही अस्थमा...

एनीमिया क्या है, कारण, रोकथाम और निदान

शरीर में  होने वाली खून की कमी को एनीमिया  कहते है जिसकी वजह से हमारे शरीर में अनेको तरहा की बिमारीआ होती है अनामिआ...

रूखी त्वचा (ड्राई स्किन) से आसानी से पाएं छुटकारा

कई तरह की स्किन टाइप्स होतीं हैं और सभी स्किन टाइप्स की अपनी समस्या होती है, लेकिन ड्राई स्किन की समस्या सबसे ज़्यादा दिक्कत...