कमर दर्द से निजात पाने के लिए घरेलू उपचार

आज के जीवन में कमर दर्द की समस्या एक आम और तकलीफदेह समस्या बन चुकी है।आमतौर पर उम्र बढ़ने के साथ शुरू होने वाली कमर दर्द की शिकायत अब 20-40 वर्ष के उम्र में ही लोगों को होने लगी है।

चिकित्सकों के अनुसार पीठ का दर्द, पीठ की मांसपेशियों, डिस्क (Disk) और लिगामेंट्स (Ligaments) से जुड़ी 26 हड्डियों में से किसी पर भी असर डाल सकता है।कमर का दर्द व्यक्ति की कार्यक्षमता को कई गुना तक घटा देता है।

आज की जीवन शैली के कारण अधिकतर लोग इसके शिकार हो चुके हैं। कमर दर्द होने के कई कारण हैं, जैसे :

कमर दर्द के लिए घरेलू नुस्खें

योगाया व्यायाम

कमर के दर्द से निजात पाने के लिए योगा या व्यायाम सबसे अच्छा उपाय है।किसी विशेषज्ञ से कमर दर्द के लिए व्यायाम सीखकर उसे रोजाना करने से एक महीने में ही दर्द में फर्क पड़ेगा। मकरासन, भुजंगासन, हलासन, अर्ध मत्स्येन्द्रासन जैसे योगासन कमर दर्द के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं।पर ध्यान रहें कि ये सभी योगासन किसी विशेषज्ञ के निरीक्षण में सीखकर ही करें।

लैवेंडर का तेल (Lavender oil)

लैवेंडर का तेल मांसपेशियों के दर्द को कम करता है।हांगकांग विश्वविद्यालयके शोधकर्ताओं ने पाया कि कमर दर्द के लिए लैवेंडर का तेल एक प्राकृतिक उपचार है। यह तेल पुराने और तेज पीठ दर्द को ठीक करने में सहायक है। हर रात सोने से पहले इस तेल से मसाज कर सकते हैं।

बेहतर हो कि कोई दूसरा ये मसाज करें, इससे आराम मिलेगा और इस प्रक्रिया को निरंतर करने से एक ही महीने में कमर के दर्द में फर्क पड़ेगा।इसके अलावा एक टब हल्के गर्म पानी में लैवेंडर के तेल की कुछ बूंदें मिलाकर खुद उसी पानी में आधे घंटे के लिए बैठ जायें या लेट जायें। रोजाना दिन में एक बार इस प्रक्रिया को करने से भी कमर का दर्द कम हो जायेगा।

इसके अतिरिक्त दो चम्मच जैतून के तेल में कुछ बूंदे लैवेंडर का तेल मिलाकर उसे हल्का गर्म कर लें और उसी से कमर पर दिन में दो बार मालिश करने से दर्द कम हो जाता है।

अदरक

अदरक में कमर के दर्द से राहत दिलाने की क्षमता है।

थोड़ी-सी मात्रा में अदरक पीसकर उसका लेप तैयार कर लें, फिर उसमें थोड़ी-सी मात्रा में नीलगिरी का तेल (Eucalyptus Oil) मिलाकर उसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगाने से कमर के दर्द से राहत मिलेगी।इसके अलावा आप अदरक की चाय भी पी सकते हैं।

थोड़ी-सी मात्रा में अदरक को बारीक काटकर उसे एक कप पानी के साथ 10-15 मिनट तक उबाले।थोड़ा ठंडा करके उसे छान लें।

फिर उसमें एक चम्मच शहद डालकर दिन में दो-तीन बार पीने से कमर दर्द से राहत मिलती है।

तुलसी के पत्ते

तुलसी मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने में मदद करता है। 8 से 10 साफ और ताजे तुलसी के पत्तों को एक कप पानी में तब तक उबालें जब तक की पानी घटकर आधा न हो जाये।

फिर उस पानी को थोड़ा ठंडा करके उसमें एक चुटकी नमक डालकर उसका सेवन करें। हल्के दर्द के लिए इस पेय को दिन में एक बार पीयें और तेज दर्द के लिए दिन में दो बार पीयें।इससे कमर के दर्द में फर्क पड़ेगा।

खसखस

खसखस कमर के दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। सौ ग्राम खसखस और सौ ग्राम मिश्री को एक साथ पीसकर एक डब्बे में रख लें।रोजाना दिन में दो बार एक गिलास हल्के गर्म दूध के साथ दो चम्मच इस मिश्रण को लेने से कमर और पीठ दर्द की समस्या दूर हो जायेगी।

लहसुन

लहसुन भी मांसपेशियों के दर्द को दूर करने में मददगार है। रोजाना नियमित रूप से सुबह खाली पेट दो लहसुन की कलियाँ खाने से हर किस्म का दर्द ठीक जाता है।इसके अलावा आप एक कटोरी में नारियल का तेल या सरसों का तेल अथवा तिल का तेल गर्म करके उसमें आठ से दस लहसुन की कलियाँ डालकर धीमी आँच पर तब तक पकायें जब तक कि लहसुन भूरे न हो जायें।ठंडा होने पर उस तेल को छान लें और उसी तेल से प्रभावित क्षेत्रों पर मालिश करवाएं।ऐसा निरंतर करने से कमर दर्द से राहत मिलेगी।

गेंहू

गेंहू दर्दनाशक औषधि है, यह मांसपेशियों के दर्द को कम करता है। रातभर एक मुट्ठी गेंहू पानी में भीगोकर रखें।सुबह उसे खसखस घास और धनिया के साथ पीस लें।फिर उस मिश्रण को एक कप दूध में मिलाकर तब तक उबालें जब तक कि दूध गाढ़ी न हो जायें। रोजाना दिन में दो बार इस मिश्रण को पीने से कमर दर्द से राहत मिलेगी।

गर्म सेंक

गर्म सेंक देने से भी मांसपेशियों की नसों को काफी आराम मिलता है। गर्म सेंक के लिए आप हॉट पैड (Hot pad), हॉट वाटर बैग (Hot water bag) या नमक की पोटली का भी प्रयोग कर सकते हैं।नमक की पोटली को गर्म तवे पर रखकर गर्म करके उससे सेंक दे सकते है।ठंडा होने पर दुबारा पोटली को गर्म कर लें।पांच से दस मिनट तक सेंक देने से आपको राहत महसूस होगी।

हल्दी

हल्दी में दर्द को कम करने का गुण है।एक कप दूध में एक चम्मच हल्दी का पाउडर मिलाकर उसे धीमी आँच पर गर्म होने दें और फिर उसी दूध का सेवन करें।हल्दी आपके मांसपेशियों को मजबूत करके अंदरूनी दर्द को कम करता है।वैकल्पिक तौर पर बराबर मात्रा में पीसी हुई हल्दी को नींबू के रस और नमक के साथ मिलाकर एक लेप तैयार करें।

फिर उस लेप को अच्छी तरह से प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें। आधे घंटे बाद हल्के गर्म पानी से धो लें। इस लेप का प्रयोग रोजाना दिन में दो बार करें और तब तक करें जब तक आपका दर्द चला नहीं जाता।

उपर्युक्त घरेलू नुस्खों का प्रयोग करके आपको कमर के दर्द से राहत मिलेगी। उपर्युक्त सभी नुस्खें आपके स्वास्थ्य के लिए उपयोगी है।लेकिन यदि इन नुस्खों को अपनाकर भी दर्द में कोई फर्क न पड़े तो आप किसी अच्छे हड्डी के डॉक्टर की सलाह लें और उपयुक्त जाँच करवाएं।

लेकिन साथ ही छोटी-छोटी  बातों का ध्यान जरुर रखें, जैसे :

Exit mobile version