होम Health गले की खराश से बचने के लिए अपनायें ये आसान घरेलू उपाय

गले की खराश से बचने के लिए अपनायें ये आसान घरेलू उपाय

बदलते मौसम के कारण हमें कई तरह की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं परेशान करती हैं। गले में खराश होना भी उनमें से एक है। खराश होने पर आपके गले में चुभन होने के साथ ही बोलने में भी बहुत परेशानी होती है।

खासकर सर्दियों में ज्यादा ठंडी या खट्टी चीजों को खाने से गले में खराश या फिर गला खराब होने जैसी समस्याएं होना एक आम बात है। सामान्यतः गले की अंदरूनी परत में संक्रमण के कारण गले में खराश होती है। लेकिन कई बार टोंसिल या गले में किसी तरह के इंफेक्शन के कारण भी ऐसा हो सकता है।

ये समस्‍या तब और ज्‍यादा गंभीर हो जाती है, जब आपको खाना खाने, पानी पीने और थूक निगलने तक में तकलीफ होती है। वैसे तो इस समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए बाजार में कई प्रकार की दवाइयां और सिरप मौजूद हैं।

लेकिन इसमें आप डॉक्टर की मदद लेने से पहले कुछ प्राकृतिक उपायों का सहारा ले सकते हैं। इन प्राकृतिक उपायों से आप गले की खराश से जल्दी और प्रभावशाली ढंग से राहत पा सकते हैं।

तो चलिए हम आपको उन घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं जो आपको गले की खराश से निजात दिलाएंगे।

Quick Tips

  • मौसम बदलने पर गले में खराश होना है एक आम बात।
  • इसके अलावा धूल-मिट्टी और तली-भुनी चीजों से भी होती है ये समस्या।
  • वायरस या बैक्टीरिया के कारण होती है गले में खराश।
  • नमक मिश्रित हल्के गुनगुने पानी से करें गरारे।
  • ये प्राकृतिक उपचार गले की खराश खत्म करने में हैं कारगर।
  • गले में दर्द, खांसी, खराश और संक्रमण आदि से दिलायेंगे राहत।
  • नमक मिलाकर हल्के गुनगुने पानी से गरारे करना गले की खराश से छुटकारा पाने का सबसे आसान और कारगर तरीका है। गले में खराश होने पर हमारे गले की श्लेष्मा झिल्ली की कोशिकाओं में सूजन आ जाती है। नमक और गुनगुने पानी से ये सूजन कम होती है और दर्द में भी राहत मिलती है। इसके लिए आप एक गिलास गुनगुने पानी में एक बड़ा चम्मच सफेद नमक डालकर घोल लें और फिर इस पानी से गरारे करें। इस प्रक्रिया को दिन में 2-3 बार करें।
  • कई बार गले में खराश सूजन और इंफेक्शन के कारण भी हो जाती है। ऐसे में इससे निजात पाने के लिए आप भाप ले सकते हैं। ऐसा करने के लिए आप किसी बर्तन में गरम पानी करके किसी कपड़े या तौलिया से मुंह ढ़ककर भाप लें। ऐसा करने से भी गले की सिकाई होगी और गले का इंफेक्शन भी खत्म हो जायेगा। ऐसा दिन में कम से कम 2 बार जरूर करें।
  • इस समस्या से छुटकारा दिलाने में हल्दी वाला दूध भी काफी कारगर उपाय है। रात को सोते समय दूध में 1 चम्मच हल्दी मिलाकर पिएं। इसके अलावा आप दूध में हल्दी के साथ अदरक को पीसकर डालें और फिर इसको थोड़ी देर उबालें और फिर इसको पी लें। ऐसा करने से गले की खराब कम होगी और गले में दर्द में भी काफी राहत मिलेगी।
  • गले की खराश दूर करने में बेकिंग सोडा यानी कि खाने का सोडा की चाय भी बेहद फायदेमंद है। बेकिंग सोडा में ऐसे कई एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि जीवाणुओं को नष्ट कर देते हैं। इसके लिए एक गिलास गरम पानी में बेकिंग सोडा और नमक मिलाकर दिन में 2-3 बार गरारे करें।
  • लौंग भी कई एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होती है जिससे गले के इंफेक्शन और गले में सूजन जैसी समस्याएं दूर होती हैं। गले की खराश से छुटकारा पाने के लिए लौंग का इस्तेमाल सदियों से होता आ रहा है। इसके लिए आप 1-2 लौंग को मुंह में रखकर धीरे-धीरे चबायें।
  • गले की खराश में लहसुन का सेवन बहुत ही फायदेमंद है। लहसुन से इंफेक्शन पैदा करने वाले जीवाणु नष्ट हो जाते हैं। इसमें मौजूद एलीसिन से जीवाणुओं के खात्मे के साथ ही गले की सूजन और दर्द भी कम होता है। इसके लिए आप 1-2 लहसुन की कलियां लें और इन्हें दांतों के नीचे हल्के से दबाकर चूसें।
  • गले की खराश से आराम दिलाने में अदरक भी बेहद ही उपयोगी है। इसमें मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण हमें गले के इंफेक्शन और दर्द से राहत दिलाते हैं। इसके लिए एक कप पानी में थोड़ी से अदरक डालकर उबालें। इसके बाद इसमें 1-2 चम्मच शहद मिलाएं। इसको दिन में 2-3 बार पीएं
  • गले में खराश से तुरंत छुटकारा पाने के लिए आप मसाला चाय का सहारा ले सकते हैं। इसके लिए एक गिलास पानी में लौंग, तुलसी के पत्ते, अदरक और काली मिर्च को डालकर उबालें। उबलने पर इसमें चाय पत्ती और आधा चम्मच चीनी डालकर चाय बनाएं। इसको गरम गरम ही पीएं। ये गले के लिए बहुत ही लाभदायक उपाय है और इससे गले में तुरंत आराम भी मिलता है।
  • इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप पालक का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसके लिए आप पालक के पत्तों को पीसकर पट्टी बनाकर इसको गले में बांध लें। 15 से 20 मिनट तक इसे बांधे रखने के बाद खोल लें। इसके अलावा आप धनिया के दानों को पीसकर इसका पाउडर बनाएं और फिर इसमें गुलाबजल मिलाकर गले पर लगाएं। इससे आपको दर्द और सूजन में काफी आराम मिलेगा।
  • गले में खराश होने पर कालीमिर्च को घी और बताशे के साथ पीसकर चाटने से भी काफी लाभ होता है। इसके अलावा कालीमिर्च को 2 बादाम के साथ पीसकर सेवन करने से भी गले के रोग दूर हो जाते हैं। साथ ही आप एक कप पानी में 5-6 कालीमिर्च एवं तुलसी की पत्तियों को उबालकर काढ़ा बनाकर पिएं। रात को सोते समय इसको पीने से गले से सम्बंधित समस्याओं में काफी लाभ होता है।

गले की समस्याओं से बचने के लिए अपनाएं ये सावधानियां-

  • ज्यादा तले भुने और ठंडे पेय पदार्थों के सेवन से बचें।
  • ज्यादा धूल मिट्टी और प्रदूषण से बचकर रहें।
  • खूब पानी पियें और तरल पदार्थों का सेवन करें।
  • ज्यादा तेज ना चिल्लाएं और अपने गले को आराम दें।
  • इन सबके अलावा आप गले की सिकाई भी कर सकते हैं।
  • ज्यादा समस्या होने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

नोट - यहां पर दी गई जानकारी केवल एक सलाह के तौर पर है। हम इनमें से किसी भी उपचार को आजमाने के लिए आप पर किसी प्रकार का कोई भी दबाब नहीं बना रहे हैं। अतः आपसे निवेदन है कि किसी भी उपचार को अपनाने से पहले किसी डॉक्टर अथवा विशेषज्ञ से परामर्श अवश्य लें।

संपादक
मैं इस साइट का संपादक और वेबमास्टर हूं, जो आपको स्वास्थ्य और कल्याण पर सबसे अच्छी सामग्री ला रहा है। यदि आप हमारी साइट पर पोस्ट करना चाहते हैं तो हमें लेख भेजें Write for Us

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कैंसर होने से पहले शरीर देता है ये संकेत भूलकर भी ना करें इन्हें नजरअंदाज

पूरी दुनिया में कैंसर ही एक ऐसी बीमारी है, जिससे सबसे ज्यादा लोगों की मौत होती है। इस खतरनाक बीमारी की चपेट में आने...

क्या है मेनिन्जाइटिस, इसके संकेत और लक्षण ?

16 से लेकर 22 सितंबर तक ”मेनिन्जाइटिस अवेयरनेस वीक” (meningitis awareness week 2019) सेलिब्रेट किया जाता है। हर साल इस बीमारी के प्रति एक...

Anti-Wrinkles Tips in Hindi

सुंदर दिखना हर किसी की चाहत होती है .इसलिए यह जरूरी नहीं है कि आप कॉस्मेटिक का उपयोग या ब्यूटी पार्लर में जा के...

शरीर की कमजोरी के लक्षण, दूर करने के अचूक उपाय

आपको शरीर की कमजोरी तभी आती है जब हम सही समय पर खाना न खा पाते हैं तो इसका, कमजोरी आना आम बात हो जाती है...

अस्थमा के लक्षण (Ashtma Ke Lakshan) In Hindi

अस्थमा के लक्षण (Ashtma ke Lakshan)- हमारे घर के अंदर और घर के बाहर कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिसके कारण हमें अस्थमा की शिकायत...

बेनाइन पैरॉक्सिज्मल पोजिशनल वर्टिगो (BPPV Vertigo) को  नियंत्रित करने के उपाय

वर्टिगो से पीड़ित व्यक्ति को अक्सर महसूस होता है जैसे की उसे चक्कर आ रहे है या उसके चारों तरफ सब घूम रहा है...

अक्सर पेट खराब रहने से हैं परेशान तो पाचन शक्ति दुरुस्त करने से लिए खाएं ये चीजें

आजकल ज्यादातर लोग पेट खराब रहने की समस्या से काफी परेशान हैं। इसका कारण व्यस्त दिनचर्या, अनियमित रहन-सहन और अनियंत्रित खानपान है।इन सबकी वजह...

प्रदूषण की मार से बचने के लिए अपनाएं ये 10 घरेलू नुश्खे

हमारे देश में प्रदूषण की मात्रा दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। हर तरफ प्रदूषण का प्रकोप साफ देखा जा सकता है। जिसके कारण...