मंगलवार, दिसम्बर 10, 2019
होम Health बालों के लिए नीम के पत्तों का लाभ

बालों के लिए नीम के पत्तों का लाभ

आज के समय में लगभग सभी बाल झड़ने का अनुभव करते हैं और रोजाना कुछ बालों का टूटना बड़ी ही सामान्य बात है | अनुचित मात्रा में बालों का झड़ना एक बहुत ही गंभीर समस्या है, खासतौर से अगर बाल झड़ने के साथ साथ पतले भी हो रहे हैं | चिकित्साशास्त्र के अनुसार इसे एलोपीसिया(गंजापन) कहते हैं और बालों के झड़ने के कई कारण हैं जैसे रूसी, कुपोषण, नमी की कमी , विषाक्त पदार्थों का संचय आदि |

बालों के ज्यादा झड़ने से गंजापन हो सकता है| आज के समय में हैयर ट्रांसप्लांटेशन (बाल प्रत्यारोपन ) गंजेपन के लिए स्थायी उपचार के रूप में बहुत लोकप्रिय हो रहा है | भारत उन प्रसिद्ध देशों में से एक है, जो सबसे बेहतरीन हैयर ट्रांसप्लांटेशन प्रदान करते हैं | पुणे ,दिल्ली ,मुंबई और बैंग्लोर में आप किफायती दामों में हैयर ट्रांसप्लांट करा सकते हैं |

यदि आप प्रभावी प्रकृतिक उपचार की तलाश में हैं, तो आपकी परेशानियों का जवाब है – नीम के पत्ते | त्वचा की बीमारियों  और बालों के झड़ने के इलाज के लिए प्राचीन  काल से इन पत्तियों का उपयोग किया जा रहा है | रक्त शुद्ध करना और एंटी माइक्रोबियल गुणों की वजह से नीम के पत्ते बालों के झड़ने के मूल कारण से निपटने में मदद करते हैं | यह आंतरिक समस्याओं का इलाज करता है ,बालों का झड़ना कम करता है और स्वस्थ बालों के उगने में मदद करता है |

नीम की पत्तियाँ आपकी त्वचा में प्रकृतिक निखार लाती हैं , त्वचा की सभी एलर्जी को दूर करती हैं , फोड़े का इलाज करती हैं , मुँहासे ,दाग , जीवाणु और वाइरल इन्फ़ैकशन आदि को दूर करती हैं |

बालों का झड़ना कम करने के लिए नीम के पत्तों का उपयोग करने के विभिन्न तरीके

नीम का तेल

एक स्वस्थ पोषित खोपड़ी स्वस्थ बालों के विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है | हालांकि सिर की त्वचा कई कारणो से प्रभावित होती है जैसे: रूसी , त्वचा में खुश्की आना आदि जिससे बाल झड़ने लगते हैं | सेबम(त्वग्वसा) का अत्यधिक उत्पादन सिर की त्वचा को चिकना कर देता है और छिद्र को बंद कर देता है जिससे बालों का बढ़ना रुक जाता है और बाल पतले हो जाते हैं |

नीम का तेल लगाने से सारी परेशानियाँ दूर हो जाती हैं | यह संक्रामण (इन्फ़ैकशन) के इलाज के लिए खोपड़ी पर लगाया जाता है | तेल को हल्का गरम करें, फिर इससे  खोपड़ी पर मालिश करें | एक घंटे बाद बालों को धोलें और हफ्ते में दो बार आप इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं |

नीम के तेल की गंध आपकी बाधा बन सकती है परंतु उसे सहन करलें जैसे कि वह आपकी लंबे और घने बाल प्राप्त करने में मदद करती है |

नीम कि पत्तियों को उबाल लें  

एक मुट्ठी पत्तियों को पानी में उबालें जब तक पानी का रंग न बदल जाये ,रंग बदलने का मतलब है कि नीम कि पत्तियों के औषधीय गुण पानी में आ गए हैं | मिश्रण को ठंडा करलें और पत्तियों को अलग करदें | शैम्पू करने के बाद इसको बाल धोने के लिए इस्तेमाल करें | यह उपचार रूसी को हटाता है और बंद हुए छिद्रों को खोल देता है |

नीम की पत्तियों को पीस लें

आप नीम की पत्तियों को पीस कर उसका पेस्ट भी बना सकते हैं और बालों का झड़ना कम करने में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं |

नीम की ताज़ी पत्तियों को थोड़ा सा गरम पानी डालकर पीस लें और पतला पेस्ट बनालें | इस पेस्ट को अपने बालों में लगाएँ ,सिर की त्वचा से लेकर बालों के अंतिम छोर तक लगाएँ और बालों को तोलिए से लपेट लें | एक या दो घंटे बाद बालों को अच्छे से धोलें| अगर पेस्ट खुरदुरा है तो बालों में से बचे हुए नीम के पत्तों को निकालना मुश्किल होगा |

इस उपाय के कुछ और लाभ

  • खोपड़ी की खुजली का उपचार करता है
  • खोपड़ी के संक्रमणों का उपचार करता है
  • खोपड़ी की जलन या सूजन को कम करता है
  • सिर की जूँ को खतम करता है
  • समय से पहले बाल सफ़ेद होने से रोकता है

नीम की पत्तियों का पाउडर

नीम के पत्तों का पाउडर किसी भी विभागीय(डीपार्टमेंटल) स्टोर पर या किसी दवाई घर पर आसानी से मिल जाता है लेकिन जैविक वाला लेना ही सुनिश्चित करें | इस पाउडर का पेस्ट बनाकर घोपड़ी पर लगाएँ और सूखने पर धोलें |

लेकिन ताज़ी नीम की पत्तियों के उपयोग की ही सलाह दी जाती है

छोटी नीम की पत्तियों का सेवन

नीम की पत्तियाँ प्रकृतिक रक्त शोधक होती हैं क्यूंकी वे आंतरिक अंगों ओर रक्त से विषाक्त पदार्थों को हटाती हैं | नीम की पत्तियों के औषधीय गुण इनफेक्शन को खतम करते हैं और अंगों को शुद्ध करते हैं |

छोटी नीम की पत्तियों को पीस कर उसका पतला पेस्ट बनालें और थोड़ा सा पानी के साथ पीलें या फिर छाज के साथ मिलकर भी पी सकते हैं | हालांकि इसका स्वाद अच्छा नहीं होता परंतु ये सेहत के लिए काफी लाभदायक है | बाल झड़ने का सबसे बड़ा कारण शरीर में विषाक्त पदार्थों का संचय होता है |

छोटी नीम की पत्तियों का ही सेवन क्यूँ करना चाहिए ?

नीम की बड़ी ,कड़वी पत्तियों का सेवन करना मुश्किल होता है और साथ ही छोटी पत्तियाँ ताज़ा और  नर्म होती  हैं | जैसे कि स्वाद और सुगन्ध जीभ पर ज्यादा समय तक रहते है इसलिए ताज़ा पत्तियों का सेवन ही बेहतर है |

यह रक्त को साफ करती हैं और साथ ही रक्त चाप बढाती हैं जिससे बालों का झड़ना कम होता है |

आपका स्वस्थ्य आपके बालों और त्वचा के माध्यम से दिखाई देता है | आंतरिक अंगों के प्रभावी कार्य से ही पोषित बाल और दमकती हुई त्वचा मिलती है |

पुराने समय में नीम की पत्तियों का सेवन करना सामान्य दिनचर्या हुआ करती थी | बच्चों को नीम की पत्तियों का पेस्ट महीने में दो बार दिया जाता था और साथ ही नीम के तेल से स्नान कराया जाता था |

इस बहू उपयोगी पेड़ के सरल उपचारों को अपनी दिनचर्या में शामिल करें जोकि हर जगह मिलता है|

संपादक
मैं इस साइट का संपादक और वेबमास्टर हूं, जो आपको स्वास्थ्य और कल्याण पर सबसे अच्छी सामग्री ला रहा है। यदि आप हमारी साइट पर पोस्ट करना चाहते हैं तो हमें लेख भेजें Write for Us

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

माइग्रेन के घरेलू उपचार

माइग्रेन एक गंभीर बीमारी है जिसमें रोगी को बेचैन कर देने वाला सिरदर्द होता है ।  माइग्रेन का दर्द बहुत ही तेज होता है...

एनीमिया क्या है, कारण, रोकथाम और निदान

शरीर में  होने वाली खून की कमी को एनीमिया  कहते है जिसकी वजह से हमारे शरीर में अनेको तरहा की बिमारीआ होती है अनामिआ...

प्रदूषण की मार से बचने के लिए अपनाएं ये 10 घरेलू नुश्खे

हमारे देश में प्रदूषण की मात्रा दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। हर तरफ प्रदूषण का प्रकोप साफ देखा जा सकता है। जिसके कारण...

Anti-Wrinkles Tips in Hindi

सुंदर दिखना हर किसी की चाहत होती है .इसलिए यह जरूरी नहीं है कि आप कॉस्मेटिक का उपयोग या ब्यूटी पार्लर में जा के...

रामदेव बाबा योग आसन फोर वेट लॉस इन हिंदी

गलत जीवन शैली के चलते वजन का बढ़ना आम बात है| वजन बढ़ने के पीछे का मुख्य कारण शरीर की चर्बी बढ़ना होता है|मोटापा...

होंठों का कालापन दूर करने के घरेलु उपाय । Honto Ka Kalapan Dur Karne Ke Upay

आज हम होंठों का कालापन दूर करने के कुछ घरेलु उपाय जानेंगे दोस्तों होंठ चेहरे का सबसे इम्पोर्टेन्ट पार्ट है अगर आपके होंठ रूखे...